हिमांशी खुराना से लेकर सरगुन मेहता तक, कंगना रनौत के खिलाफ सबका गुस्सा खूब बरसा

Spread the love


सोशल मीडिया पर किसी भी मुद्दे पर अपनी राय बेबाकी से रखने वाली कंगना रनौत ने एक बार फिर किसानों के आंदोलन पर अपने बयान को लेकर चर्चा में हैं। कंगना ने किसानों के आंदोलन को लेकर इस बार कुछ ऐसा कहा है, जिसे सुनकर हिमांशी खुराना, सरगुन मेहता, एमी विर्क सभी ने अपनी नाराजगी जाहिर की है।

इस वक्त देश में कोरोना संकट के बीच नए कृषि कानूनों (New Farm Laws) के खिलाफ किसानों का विरोध (Farmer Protest) लगातार जारी है। किसानों के साथ गतिरोध समाप्त करने के लिए सरकार और किसान नेताओं के बीच विज्ञान भवन में बैठक चल रही है। इसी दौरान कंगना ने इस मामले में अपनी बातें रखते हुए ट्वीट किया और लिखा, ‘शर्मनाक…किसान के नाम पर हर कोई अपनी रोटियां सेक रहा है। आशा है कि सरकार किसी एंटी नैशनल एलिमेंट को इस मौके का फायदा नहीं उठाने देगी और टुकड़े गैंग को दूसरा शाहीन बाग न बनने दें।’

कंगना के इसी ट्वीट पर कई सिलेब्रिटीज़ ने आपत्ति जताई है। टीवी ऐक्ट्रेस सरगुन मेहता ने कंगना के इस ट्वीट पर जवाब देते हुए कहा, ‘जैसे आपको अपनी बात कहने का हक है इन्हें भी है। बस फर्क ये है कि आप बिना बात और मकसद के बोलती हैं और ये अपने हक के लिए लड़ रहे हैं।’

कंगना के इस ट्वीट पर हिमांशी खुराना ने अपनी प्रतिक्रिया जाहिर की है और लिखा, ‘ओह…तो अब वह नई स्पोक्सपर्सन हैं। बात को गलत एंगल देना तो कोई इनसे सीखे ताकि कल को ये लोग कुछ करे पहले से ही लोगों में वजह फैला दिया कि क्यों दंगे होंगे।’

अपने एक अन्य ट्वीट में कंगना ने रीट्वीट किया था जिसमें किसान प्रोटेस्ट में एक बुजुर्ग महिला दिखाई दे रही थीं। इस ट्वीट में इन्हें शाहीन बाग की दादी बिलकिस बानो बताया जा रहा था।


कंगना ने रीट्वीट करते हुए कहा था, हाहाहा…यह वही दादी हैं जिन्हें भारत के सबसे पावरफुल लोगों में शामिल किया था। यह तो 100 रुपये में अवेलेबल हैं। पाकिस्तान के पत्रकारों ने इंटरनैशनल पीआर को भारत के लिए शर्मनाक तरीके से हायर कर लिया है। हमें अपने ऐसे लोग चाहिए जो हमारे लिए इंटरनैशनली आवाज उठा सकें।’

कंगना अपने इस ट्वीट को लेकर काफी ट्रोल हुईं क्योंकि वह फेक था। कंगना ने ट्रोल होने के बाद अपना ट्वीट डिलीट कर दिया है।





Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *