हेयर-कटिंग से लेकर क्लीनिंग और रिपेयरिंग तक, इस ऐप पर भरोसा कर रहे इंडियंस

Spread the love


नई दिल्ली
साल 2020 में आई कोरोना महामारी ने लोगों को जीने का नया तरीका सिखा दिया है और इस दौरान टेक्नॉलजी भी मददगार साबित हुई है। हर वीकेंड पर दोस्तों के साथ पार्टी करने वाले लोग अब घरों से वर्क फ्रॉम होम कर रहे हैं, वहीं कॉलेज में शोर मचाने वाले स्टूडेंट्स अब ऑनलाइन क्लासेज में एकसाथ आते हैं। इस दौरान फूड डिलिवरी और ऑनलाइन शॉपिंग ऐप्स का इस्तेमाल भी तेजी से बढ़ा है। लोग घरों से नहीं निकलना चाहते लेकिन अपनी जरूरतों के लिए प्लंबर से लेकर मकैनिक तक को घर बुला रहे हैं। इसके लिए यूजर्स एक ऐप की मदद ले रहे हैं और देश के 18 शहरों में Urban Company लोगों की जरूरतें उनके घर जाकर पूरी कर रही है।

अपने ऐप और वेबसाइट पर Urban Company होम स्पा, क्लीनिंग, प्लंबिंग, कारपेंटरी, अप्लायंस रिपेयरिंग और पेटिंग जैसी कई सर्विसेज दे रही है। लॉकडाउन के बाद इस प्लैटफॉर्म पर कई नए ट्रेंड्स देखने को मिले हैं और यूजर्स खुद घर से निकलने के बजाय इन सर्विसेज को अपने घर बुलाना बेहतर समझ रहे हैं। प्री-कोविड लेवल का करीब 140 प्रतिशत परफॉर्मेंस प्लैटफॉर्म को अक्टूबर में मिला। भारत में लोग कैसे घर बैठे मिलने वाली सर्विसेज पर भरोसा कर रहे हैं और एक ऐप को उन्होंने किस तरह अडॉप्ट किया है, इसपर NBT Tech ने अर्बन कंपनी के वीपी राहुल देवरा से बात की।

पढ़ें: चाइनीज ऐप्स पर बैन लगाना क्यों जरूरी, आखिर क्या है सरकार की मजबूरी?

राहुल ने बताया कि Urban Company (UC) की ऐप और वेबसाइट एक मीडियम की तरह काम करती है, जो लोगों को घर बैठे बेहतर सर्विसेज दे सके। उन्होंने कहा, ‘ट्रडिशनल तरीका अपनी जान-पहचान के लोगों या पड़ोसियों से पूछकर और राय लेकर मकैनिक या प्लंबर बुलाना था लेकिन यह आरामदायक नहीं था। साथ ही इस बात की भी गारंटी नहीं होती थी कि सर्विस देने आ रहा व्यक्ति काम वक्त पर या जरूरत के हिसाब से कर पाएगा या नहीं। ऐसे में UC ने बड़ा रोल प्ले किया है, जहां यूजर्स भरोसा कर पाते हैं कि उन्हें बेहतर सर्विस मिलेगी और दूसरों का फीडबैक पढ़ने के अलावा वे खुद भी फीडबैक और रिव्यू दे सकते हैं।’

इसलिए भरोसा कर पा रहे हैं यूजर्स
कोरोना महामारी के चलते लॉकडाउन और उसके बाद कंपनी के बिजनस पर किस तरह असर पड़ा, इसके जवाब में राहुल कहते हैं कि यूजर्स से मिला रिस्पॉन्स बहुत अच्छा और सरप्राइजिंग है। उन्होंने बताया, ‘लॉकडाउन के दौरान शुरू में बिजनस बिल्कुल जीरो हो गया था लेकिन लॉकडाउन खत्म होते ही हमें बेहतरीन रिस्पॉन्स यूजर्स से मिला। हमने समझा कि लोगों की जरूरतें पहले जैसी ही हैं, बाल कटवाने से लेकर फ्रिज और एसी रिपेयर करवाने जैसी सर्विसेज उन्हें चाहिए ही चाहिए। किसी लोकल मकैनिक को ना बुलाकर लोग UC से बुकिंग कर रहे हैं क्योंकि वे भरोसा कर पाते हैं कि कंपनी से मकैनिक या वर्कर बुलाना हमारे लिए ज्यादा सेफ होगा।’

पढ़ें: आपस में चैटिंग कर सकेंगे वॉट्सऐप और फेसबुक यूजर्स, आ रहा कमाल फीचर

इस शहर से मिला अच्छा रिस्पॉन्स
भारत के 18 शहरों अहमदाबाद, बेंगलुरु, भुवनेश्वर, चंडीगढ़, चेन्नै, दिल्ली NCR, हैदराबाद, इंदौर, जयपुर, कोलकाता, लखनऊ, लुधियाना, मुंबई, नागपुर, पुणे, सूरत, विशाखापत्तनम और वडोदरा में अपनी सर्विसेज दे रही अर्बन कंपनी को लखनऊ ने इस साल चौंकाया है। राहुल कहते हैं कि इस साल की शुरुआत में लखनऊ में अपनी सर्विसेज शुरू करने के बाद अब हमें यूजर्स का बहुत अच्छा रिस्पॉन्स मिल रहा है। यूजर्स ने यह भरोसा दिया है कि भारत ऐसे प्लैटफॉर्म के लिए तैयार है। फिलहाल, हेयर-कट जैसी जरूरतों के अलावा सबसे ज्यादा लोग रिपेयरिंग सर्विसेज ले रहे हैं। उन्होंने बताया कि कस्टमर सैटिस्फैक्शन देते हुए प्रफेशनल्स भी घर-घर जाकर बेहतर कमा रहे हैं।

यूजर्स का फीडबैक करता है मदद
राहुल देवरा ने यह भी बताया कि ऐप की मदद से यूजर्स तक पहुंचने वाले एंप्लाई भी लंबी ट्रेनिंग से गुजरते हैं। उन्होंने कहा, ‘प्रफेशनल्स के हमारे साथ जुड़ने के बाद उन्हें ट्रेनिंग दी जाती है और शुरू में मॉनीटर भी किया जाता है, जिससे कस्टमर को अच्छी सर्विस दी जा सके। टेक्नॉलजी की मदद से यह काम आसान हो जाता है और ऐसे में यूजर्स का फीडबैक हमारी मदद करता है।’ भारत एक बड़ा बाजार है और लगभग हर तरह की सर्विस यूजर्स घर बैठे अपने फोन की मदद से पाने को तैयार हैं। ट्रेंड्स दिखाते हैं कि बड़े शहरों के बाद अगले कुछ साल में छोटे शहर भी ऐसी सर्विसेज को अडॉप्ट करेंगे। राहुल भी मानते हैं कि अभी उनकी कंपनी एक्सप्लोर कर रही है और आने वाला वक्त बेहतर की ओर इशारा करता है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *