28 अगस्त से यूपी में लगेगा लॉकडाउन? योगी सरकार ने कहा- ये सब अफवाह

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • यूपी में कोरोना काल के बीच फिर से लॉकडाउन लगाने की खबरों पर सरकार का जवाब
  • हाईकोर्ट की टिप्पणी के आधार पर लगाई जा रही थी फिर से लॉकडाउन की अटकलें
  • सरकार के अपर मुख्य सचिव ने कहा- फिर से लॉकडाउन की खबरें अफवाह पर आधारित
  • यूपी में लॉकडाउन लगाने की खबरों का किया खंडन, कहा- फैलाई जा रही है गलत न्यूज

लखनऊ
यूपी में बढ़ते कोरोना केसों को देखकर इलाहाबाद हाईकोर्ट की ओर से दिए गए लॉकडाउन के सुझाव पर यूपी सरकार ने अपना पक्ष रखा है। यूपी सरकार के अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने इस बारे में मीडिया में एक प्रेस नोट जारी करते हुए कि ऐसी खबरें पूरी तरह से अफवाहों पर आधारित हैं।

बुधवार को अवनीश अवस्थी ने सरकार की ओर से उन खबरों पर प्रतिक्रिया दी है, जिनमें यह कहा गया है कि 28 अगस्त से यूपी में संपूर्ण लॉकडाउन लगाया जा सकता है। इन खबरों में यह कहा गया है कि सरकार को हाई कोर्ट ने लॉकडाउन के सुझाव दिए हैं, इसपर ही फैसला करते हुए यूपी में एक बार लॉकडाउन लगाया जा सकता है।

अफवाहों के बीच कोरोना की रिपोर्ट जारी करने से पहले बुधवार को अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने एक बयान जारी करते हुए कहा गया कि लॉकडाउन की खबरें अफवाह हैं।

अदालत ने जताई थी चिंता
दरअसल, इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने यूपी में बढ़ते कोरोना केसों को देखकर अपनी चिंता जाहिर की थी। कोर्ट ने सरकार की कार्रवाई पर सवाल उठाते हुए कहा था कि शासन ने कोरोना संक्रमण रोकने के आश्वासन तो दिए लेकिन जिलों में प्रशासन सड़कों पर बेवजह घूमने वाली भीड़, चाय और पान की दुकानों पर इकट्ठा होते लोगों और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन ना करने वालों पर सख्ती करने में नाकाम रही। कोर्ट ने कहा था कि लोगों को ब्रेड-बटर और जीवन में एक को चुनना जरूरी है। ऐसे में संक्रमण फैलने से रुके इसके लिए सख्त कदम उठाए जाने चाहिए।

इलाहाबाद हाई कोर्ट (फाइल फोटो)

कोर्ट ने कहा- लॉकडाउन से कम कोई कदम प्रभावी नहीं
इस दौरान अदालत ने कहा कि हमारी राय में कोरोना रोकने के लिए लॉकडाउन से कम कोई भी विकल्प प्रभावी नहीं होगा। हमें सेलेक्टिव तरीके से ही सबकुछ बंद करना होगा, ताकि लोग घर से बाहर ना निकलें। अदालत के इसी आदेश के बाद ये अफवाह उड़ी थी कि 28 अगस्त के बाद से यूपी में संपूर्ण लॉकडाउन लगाया जाएगा।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *