Agriculture Bill: संसद में आज काला दिन, विपक्ष की बात सुनने को तैयार नहीं सरकारः कांंग्रेस

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • आज राज्यसभा में कृषि से संबंधित दो बिल पास हो गए
  • सदन में विपक्ष ने जोरदार हंगामा किया लेकिन ध्वनि मत से बिल पास करवा लिए गए
  • इसके बाद कांग्रेस ने कहा कि यह ‘काला दिन’ है और विपक्ष की बात नहीं सुनी जाती
  • कांग्रेस ने कहा कि यह बिल किसान विरोधी और निंदनीय है

नई दिल्ली
आज राज्यसभा (Rajya sabha Ruckus) में जो कुछ हुआ उसे लेकर आरोप-प्रत्यारोप का सिलसिला शुरू हो गया है। एक तरफ सत्तापक्ष विपक्ष पर लोकतांत्रिक मर्यादाओं को भंग करने का आरोप लगा रहा है तो दूसरी तरफ कांग्रेस ने एस काला दिन करार दिया है। इससे पहले भी कांग्रेस की तरफ से कहा गया था ‘आज लोकतंत्र की हत्या की गई है।’ कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल ने कहा कि आज का दिन भारत के संसदीय लोकतंत्र का ‘काला दिन’ है। उन्होंने कहा, ‘आज जो किसान विरोधी (Agriculture Bill) बिल राज्यसभा में पारित किया गया है वह अस्वीकार्य और निंदनीय है।’

वेणुगोपाल ने कहा, ‘किसान संगठन और असोसिएशन इस बिल के विरोध में सड़कों पर हैं, वे अपने हितों की लड़ाई लड़ रहे हैं। हमें नहीं समझ में आता कि आखिर इतनी जल्दी क्या थी? वे दूसरे राजनीतिक दलों की बात सुनने को ही तैयार नहीं हैं। वे संसद की आवाज नहीं सुनते हैं और खासकर विपक्ष को नजरअंदाज किया जाता है।’ बता दें कि कांग्रेस इस बिल का विरोध करती रही है और आज किसानों के साथ मार्च में यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता भी शामिल हुए। राज्यसभा में कृषि से संबंधित दो बिल पारित हुए हैं। ये लोकसभा में पहले ही पास हो चुके थे।

यह भी पढ़ेंःराज्यसभा में पारित हुए दो कृषि बिल, जानिए क्या है इसका फायदा और क्यों हो रहा है विरोध!

विपक्ष पर होगी कार्रवाई?
सदन में जोरदार हंगामे के बाद आज उपराष्ट्रपति ने अपने आवास पर एक उच्चस्तरीय बैठक बुलाई। माना जा रहा है कि हंगामा करने वाले सदस्यों पर कार्रवाई भी हो सकती है। दरअसल सांसद नारेबाजी करते हुए वेल में पहुंच गए और सभापति का माइक तोड़ दिया। रूल बुक को फाड़ दिया गया और बिल की कॉपी फाड़कर सदन में उछाली गई। इस हंगामे को लेकर ही उपराष्ट्रपति ने उपसभापति और केंद्रीय मंत्रियों के साथ बैठक की।

यह भी पढ़ेंः विपक्ष नंबर देखता रहा और ध्वनिमत से पास हो गया कृषि बिल, आखिर आज सदन में क्या हुआ?

राजनाथ ने बताया शर्मनाक
रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने 6 मंत्रियों के साथ प्रेस कॉनफ्रेंस की और कहा कि सदन में आज जिस तरह का हंगामा हुआ है वह इससे पहले कभी नहीं हुआ। उन्होंने कहा, ‘यह दुखद, शर्मानक और दुर्भाग्यपूर्ण है।’ रक्षा मंत्री ने कहा कि इससे संसद की गरिमा को ठेस पहुंची है।

उन्होंने कहा कि राज्यसभा में उपसभापति के साथ जो दुर्व्यवहार हुआ, उसे सभी ने देखा। उन्होंने कहा कि विपक्षी सांसदों के इस व्यवहार से लोकतंत्र की गरिमा पर आंच आई है। उन्होंने कहा कि जब-जब संसद की मर्यादा टूटती है, तब-तब लोकतंत्र की गरिमा पर आंच आई है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *