Apple को टक्कर देने के लिए सस्ते हुए प्रीमियम ऐंड्रॉयड स्मार्टफोन्स, जानें डीटेल

Spread the love


हिमांशी लोहचब, नई दिल्ली
स्मार्टफोन कंपनियां शाओमी, सैमसंग और ओप्पो ने अपने प्रीमियम फ्लैगशिप मॉडल्स पर लगातार डिस्काउंट दे रही हैं। ऐपल द्वारा आईफोन्स की आक्रामक कीमत और फेस्टिव सीजन ऑफर देने के चलते प्रीमियम स्मार्टफोन सेगमेंट में छिड़ी जंग इसकी बड़ी वजह है।

चीनी हैंडसेट निर्माता ओप्पो ने अपनी प्रीमियम डिवाइसेज की कीमत 7 हजार रुपये तक कम कर दी है। वहीं शआओमी ने अपने ने 5जी स्मार्टफोन समेत कुल 8 मॉडल्स के दाम घटा दिए हैं। सैमसंग के दो हाई-ऐंड फोन्स की कीमत कंपनी की वेबसाइट पर 28 हजार और 30 हजार रुपये तक कम कर दी गई है।

इंडियन कंपनी माइक्रोमैक्स इंडिया की धमाकेदार वापसी, जल्द आएगा In स्मार्टफोन

ताइवानी ब्रैंड आसुस ने भी अपने प्रीमियम स्मार्टफोन को 7 हजार रुपये सस्ता कर दिया है। सभी स्मार्टफोन ब्रैंड्स के अफॉर्डेबल और मिड-रेंज फोन्स को 1 हजार रुपये से 2000 रुपये के बीच बेचा जा रहा है।

काउंटरपॉइंट रिसर्च के ऐनालिस्ट प्राचीर सिंह का कहना है, ‘ऐपल आईफोन्स के आक्रामक दामों के आने के बाद हम दूसरे ब्रैंड्स के प्रीमियम पोर्टफोलियो में बड़ी छूट देख रहे हैं। ब्रैंड्स यह भी समझते हैं कि फेस्टिव सीजन के बाद मांग उतनी नहीं रहेगी क्योंकि परचेजिंग पावर में कमी आई है। ग्राहक स्मार्टफोन अपग्रेड साइकल को अगले साल के लिए टाल रहे हैं। इसलिए, ब्रैंड्स ग्राहकों को लुभाने के लिए इस तरह की डील्स दे रहे हैं।’

शाओमी के बाद अब सैमसंग ने उड़ाया ऐपल का मजाक, जानें वजह

बता दें कि बाजार में बढ़िया पकड़ रखने वाली मिड-रेंज स्मार्टफोन कंपनी जैसे शाओमी, वीवो, ओप्पो और रियलमी ने प्रीमियम कैटिगरी में एंट्री की है और दाम 30 हजार रुपये से ज्यादा है। इकनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई।

सैमसंग इंडिया के सीनियर वाइस प्रेजिडेंट असीम वारसी ने एक बयान में कहा, ‘इस फेस्टिव सीजन ग्राहक चुनिंदा प्रॉडक्ट्स पर 60 प्रतिशत तक डिस्काउंट और 12.5 प्रतिशत कैशबैक ऑफर की उम्मीद कर सकते हैं।’

नए फोन के लॉन्च के बाद OnePlus 8 के दाम में भारी कटौती, जानें नया दाम

दक्षिण कोरियाई स्मार्टफोन निर्माता ने भारतीय स्मार्टफोन मार्केट में जुलाई और अगस्त में एक बार फिर नंबर 1 पर कब्जा कर लिया। देश में एंटी-चाइना सेंटिमेंट्स के चलते कंपनी को ऑनलाइन सेल से फायदा हुआ। काउंटरपॉइंट ने अपनी मंथली मार्केट ट्रैकर रिपोर्ट में इस जानकारी का खुलासा किया।

एक्सपर्ट्स ने बताया कि ऑफलाइन व ऑनलाइन डील्स और डिस्काउंट एक जैसे हैं। लेकिन ऑनलाइन चैनल का मार्केट शेयर 45 प्रतिशत है और इस तिमाही में ऑफलाइन सेल कम रहेगी। उन्होंने कहा, ‘कोविड-19 के बाद ऑनलाइन बिक्री बहुत ज्यादा बढ़ी है, खासतौर पर टियर-2 और टियर-3 शहरों में लोगों ने पहली बार ऑनलाइन शॉपिंग की है।’



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *