Bihar Election 2020: ‘हम’ का NDA में जाना तय, जीतन राम मांझी ने नीतीश से मांगी 15+ 1 सीट!

Spread the love


पटना
बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Polls) से पहले सूबे के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी (Jitan Ram Manjhi) ने महागठबंधन को बड़ा झटका देते हुए गुरुवार को नाता तोड़ दिया है। पूर्व सीएम मांझी महागठबंधन का साथ छोड़ अब मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) के साथ वापस एनडीए में जा सकते हैं। इस बीच विश्वस्त सूत्रों के हवाले से खबर है कि जीतन राम मांझी अपनी पार्टी का विलय नहीं करेंगे। लेकिन एनडीए के साथ जाना करीब-करीब तय है।

विश्वस्त सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, जीतन राम मांझी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बीच बातचीत जारी है। मांझी की मांग 15+ 1 (एमएलसी) सीट की है। सूत्रों के मुताबिक, दोनों के बीच 10+1 (एमएलसी) सीट पर डील डन हो सकती है।

तेजस्वी ने मांझी की किसी भी मांग को गंभीरता से नहीं लिया
बता दें, मांझी ने महागठबंधन में रहने के लिए राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के सामने कई शर्तें रखी थी, लेकिन नीतीश कुमार से उनकी बढ़ती नज़दीकी के खबरों कें बीच तेजस्वी यादव (Tejashwi Yadav) ने उनकी किसी भी मांग को गंभीरता से नहीं लिया। बिहार विधानसभा चुनाव नजदीक होने के चलते मांझी ने आज महागठबंधन को अलविदा कह दिया।

ससुराल का ‘किला’ गिराने JDU का झंडा थामेंगी लालू की बहू? तेजस्वी ने भी बनाया प्लान!

‘महागठबंधन को छोड़कर गरीबों के अधिकारों के लिए लड़ने का फैसला किया’
इससे पहले मांझी के बेटे संतोष कुमार सुमन ने कहा कि हमने काफी इंतजार किया लेकिन हमें और हमारी मांग को कोई तवज्जो नहीं मिली। इसलिए हमने महागठबंधन को छोड़कर गरीबों के अधिकारों के लिए लड़ने का फैसला किया। हमने भविष्य की कार्रवाई का निर्णय नहीं लिया है, हम अपने कार्यकर्ताओं से बात करेंगे और हमारे वरिष्ठ नेता चर्चा करेंगे। हम अपने दम पर चुनाव लड़ सकते हैं या एक नया गठबंधन बना सकते हैं। तीसरा मोर्चा भी हो सकता है।

पति तेजप्रताप के खिलाफ इस सीट से चुनाव लड़ेंगी ऐश्वर्या, पिता चंद्रिका राय ने दिए संकेत!

साल के आखिर में होना है चुनाव
बिहार में विधानसभा की कुल 243 सीटों के लिए इस साल के आखिर में चुनाव होने की संभावना है। बीजेपी राज्य में जेडीयू और एलजेपी के साथ गठबंधन में है। एनडीए, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में बिहार की सत्ता में वापसी की उम्मीद कर रहा है। एनडीए का राजद, कांग्रेस और वामपंथी दलों के गठबंधन के साथ सीधे मुकाबले की उम्मीद की जा रही है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *