corona pandemic: निर्धारित समय से पहले खत्म होगा संसद का मॉनसून सत्र? अधिकतर पार्टियों ने की पैरवी

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • जनप्रतिनिधियों में भी कोरोना का डर, संसद सत्र को खत्म करने की वकालत
  • लोकसभा की कार्य मंत्रणा समिति की बैठक में अधिककर पार्टियों ने की पैरवी
  • राजनीतिक दल बोले- जान को जोखिम में नहीं डाला जा सकता

नई दिल्ली
देश में कोरोना के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं। सरकारें लगातार कोरोना के कहर को रोकने की कोशिश में लगी हैं। वहीं जनप्रतिनिधियों में भी कोरोना का डर बैठा हुआ है। इनकी इच्छा है कि कोरोना वायरस के प्रकोप के बीच संसद के सत्र को रोक देना चाहिए।

कई राजनीतिक दलों के सांसदों ने COVID-19 महामारी के बीच संसद के चल रहे सत्र को रोकने की इच्छा व्यक्त की है। लोकसभा की कार्य मंत्रणा समिति की बैठक में ज्यादातर पार्टियों ने इसकी पैरवी की है। उन्होंने कहा कि जान को जोखिम में नहीं डाला जा सकता। इसी के साथ संभावना है कि संसद के मॉनसून सत्र को निर्धारित समय से पहले खत्म किया जा सकता है।

सत्र के लिए हुई है खास तैयारी
आपको बता दें कि संसद का मॉनसून सत्र सोमवार से शुरू हुआ था। सत्र के दौरान कम से कम भीड़ हो और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो इसके लिए पूरी व्यवस्था की गई है। सत्र के दौरान मीडिया की भी बेहद सीमित एंट्री रखी गई है। वहीं सितंबर महीने के कोरोना वायरस के आकंडों पर अगर गौर किया जाए तो भारत में पिछले सप्ताह कोरोना 1.97 प्रतिशत की दर से बढ़ रहा है।

रोज आ रहे 90 हजार से ज्यादा केस
देश में हर रोज 90 हजार से ज्यादा कोरोना केस सामने आते जा रहे हैं। बीते 24 घंटे में कोरोना केसों की बात करें तो यह अब भी 90 हजार से ऊपर ही चल रहा है। बीते 24 घंटे में कोरोना के 93337 नए मामले सामने आए हैं, वहीं 1247 लोगों की मौतें हुई हैं। भारत में अब तक कोरोना के 5,308,014 केस सामने आ चुके हैं।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *