Corona Vaccine: कनाडा ने दो वैक्सीन को दी इस्तेमाल की मंजूरी, टीकाकरण की तैयारियां तेज

Spread the love


कनाडा
पूरी दुनिया के देश कोरोना वायरस के कहर से बचने के लिए जल्द से जल्द टीकाकरण शुरू करना चाहते हैं। इस दौड़ में अब कनाडा भी शामिल हो गया है। ब्रिटेन और बहरीन के बाद अब कनाडा ने बुधवार को दो कोरोना वैक्‍सीन का मंजूरी दे दी है। इसमें फाइजर इंक (Pfizer Inc) और बायोएनटेक एसई (BioNTech SE) कंपनियां शामिल हैं। इसके साथ ही कनाडा में कोरोना वैक्‍सीन लगने की प्रक्रिया तेज हो गई है।

अमेरिकी दवा कंपनी फाइजर और जर्मनी की बायोएनटेक की तरफ से तैयार कोरोना वैक्सीन को कनाडा में भी इस्तेमाल की मंजूरी दे दी गई है। कनाडा के हेल्थ रेगुलेटर ने फाइजर की कोविड-19 वैक्सीन को बुधवार को मंजूरी दी है।

कनाडा के स्वास्थ्य विभाग की ओर से कहा गया है कि ‘कनाडा के लोग विश्वास कर सकते हैं कि जो हमारे पास मजबूत निगरानी व्यवस्था है उसके जरिए कड़ी समीक्षा प्रक्रिया की गई है. जैसे ही यह वैक्सीन बाजार में आ जाएगी हेल्थ कनाडा और पब्लिक हेल्थ एजेंसी ऑफ कनाडा बेहद करीब से इस वैक्सीन की निगरानी करेगी और अगर कोई चिंता की बात सामने आती है तो जरूरी फैसले लिए जाएंगे।

देसी या विदेशी, कौन सी कोरोना वैक्‍सीन होगी मंजूर? जानें कहां फंस गया है पेच

अमेरिका में फाइजर वैक्सीन की मंजूरी आखिरी चरण में

अमेरिकी नियामकों ने दवा कंपनी फाइजर के कोविड-19 टीके पर पहली वैज्ञानिक समीक्षा जारी की है और पुष्टि की है कि यह टीका असरदार है। इसे मंजूरी मिलने पर देश में सबसे बड़े टीकाकरण अभियान का मार्ग प्रशस्त हो जाएगा। अमेरिकी नियामक खाद्य एवं औषधि प्रशासन (एफडीए) के वैज्ञानिकों ने मंगलवार को यह समीक्षा जारी की। एजेंसी के स्वतंत्र सलाहकार गुरुवार को बैठक कर चर्चा करेंगे कि क्या लाखों अमेरिकी नागरिकों का टीकाकरण शुरू करने के लिए इस टीका की सिफारिश की जा सकती है। अगले कुछ दिनों में एफडीए का निर्णय आ जाएगा तथा टीकाकरण की शुरुआत हो जाएगी।

ब्रिटेन में टीकाकरण के बाद दो लोगों की तबीयत बिगड़ी
ब्रिटेन में फाइजर की कोरोना वायरस वैक्सीन लगने से दो लोगों की तबीयत खराब हो गई है। जिसके बाद आनन-फानन में नेशनल हेल्थ सर्विस को चेतावनी जारी करनी पड़ी है। यह मामला कोरोना वायरस वैक्सीनेशन शुरू होने के 24 घंटे के अंदर आया है इसलिए, ब्रिटिश सरकार की भी चिंता बढ़ गई है। जिन दो लोगों के ऊपर वैक्सीन का दुष्प्रभाव देखने को मिला है वे पेशे से स्वास्थ्यकर्मी हैं। फाइजर ने भारत में भी वैक्सीनेशन के लिए सरकार से अनुमति मांगी है। ऐसे में सरकार ऐसे सभी मामलों पर करीबी निगाह बनाए हुए है।

भारत में वैक्सीन के आपातकालीन इस्‍तेमाल की मंजूरी जल्द मिलेगी
भारत में कोविड वैक्‍सीन के आपातकालीन इस्‍तेमाल की मंजूरी जल्‍द दी जा सकती है। अबतक तीन कंपनियों- फाइजर इंडिया, भारत बायोटेक और सीरम इंस्टिट्यूट ऑफ इंडिया ने इसके लिए आवेदन दिया है। सेंट्रल ड्रग्‍स स्‍टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन (CDSCO) ने भारत बायोटेक और सीरम इंस्टिट्यूट से उनके टीकों का ऐडिशनल सेफ्टी और एफेकसी डेटा मांगा है। फाइजर की अप्लिकेशन पर कोई विचार नहीं हुआ क्‍योंकि कंपनी ने प्रजेंटेशन के लिए और वक्‍त मांगा है। दूसरी तरफ, केंद्र सरकार की तरफ से उन रिपोर्ट्स को ‘बेबुनियाद’ करार दिया गया जिसमें कहा गया था कि भारत बायोटेक और सीरम इंस्टिट्यूट की अप्लिकेशन खारिज हो गई है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *