Corona Vaccine Updates: कोरोना वैक्सीन पर स्वास्थ्य मंत्रालय का बड़ा बयान, कहा- बस वैज्ञानिकों से हरी झंडी मिलने का इंतजार

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- वैज्ञानिकों से हरी झंडी मिलने के बाद बड़े पैमाने पर शुरू कर देंगे Covid-19 वैक्सीन का उत्पादन
  • भारत में रोजाना किए जा रहे ट्रायल में 6 वैक्सीन ने दिए प्रभावी नतीजे, वैक्सीन के कुछ कैंडिडेट्स को आने वाले हफ्तों में मिल सकता है लाइसेंस
  • केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव ने बताया कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक ने इमरजेंसी यूज अप्रूवल के लिए किया है आवेदन

नई दिल्ली
देश में कोरोना महामारी (Corona Pandemic in India) से निपटने के लिए Covid-19 वैक्सीन पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बड़ा अपडेट दिया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने मंगलवार को बताया कि एक बार अपने वैज्ञानिकों से हरी झंडी मिलने के बाद हम बड़े पैमाने पर Covid-19 वैक्सीन का उत्पादन शुरू कर देंगे। हमने पूरी तैयारी की है। वैक्सीन के उत्पादन को बढ़ाने के लिए एक रूपरेखा तैयार की है और कम से कम समय में हर व्यक्ति को वैक्सीन उपलब्ध कराने के लिए हम काम कर रहे हैं। उधर, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने यह भी बताया कि वैक्सीन के कुछ कैंडिडेट्स को अगले कुछ हफ्तों में लाइसेंस मिल सकता है।

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने कहा कि तीन वैक्सीन प्री-क्लीनिकल स्टेज में हैं और 6 वैक्सीन क्लीनिकल ट्रायल में हैं। ये 2-3 डोज वाले वैक्सीन हैं, अधिकांश 2 डोज वाले वैक्सीन हैं। हर डोज़ के बीच की दूरी 3-4 हफ़्ते की है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव ने बताया कि वैक्सीन के कुछ कैंडिडेट्स को अगले कुछ हफ्तों में लाइसेंस मिल सकता है।


पीएम ने की सभी वैक्सीन निर्माताओं और वैज्ञानिकों से बातचीत

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव ने बताया कि सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक ने इमरजेंसी यूज अप्रूवल के लिए आवेदन किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सभी वैक्सीन निर्माताओं और वैज्ञानिकों से बातचीत की।

कुछ वैक्सीन निर्माताओं को आने वाले हफ्तों में मिल सकता है लाइसेंस
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव ने कहा कि भारत में मौजूदा समय में रोजाना किए जा रहे ट्रायल में 6 वैक्सीन ने प्रभावी नतीजे दिए हैं। वैक्सीन के कुछ कैंडिडेट्स को अगले कुछ हफ्तों में लाइसेंस मिल सकता है। राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के सहयोग से केंद्र सरकार की ओर वैक्सीन के रोलआउट के लिए रोड मैप तैयार किया जा रहा है।

कोरोना वैक्सीन का मतलब लापरवाही तो नहीं!

इस सॉफ्टवेयर में अपलोड हो रहा हेल्थ वर्कर्स का डाटा
मंत्रालय ने बताया कि Covid-19 टीकाकरण की तैयारी के संबंध में को-विन सॉफ्टवेयर पर अग्रिम मोर्चे के स्वास्थ्यकर्मियों के बारे में आंकड़ा अपलोड किया जा रहा है। स्वास्थ्यकर्मियों, अग्रिम मोर्चे पर काम करने वाले कर्मियों के लिए तीन करोड़ Covid-19 टीके की पहली खेप को स्टोरेज करने के वास्ते मौजूदा कोल्ड स्टोरेज की व्यवस्था पर्याप्त है।

हेल्थ वर्कर्स को टीकाकरण में प्राथमिकता की सिफारिश
मंत्रालय ने कहा कि एनईजीवीएसी ने सिफारिश की है कि Covid-19 टीकाकरण में एक करोड़ स्वास्थ्यकर्मियों को प्राथमिकता मिलनी चाहिए। स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि सार्वभौमिक टीकाकरण कार्यक्रम (Universal Immunization Program) के तहत 2.38 लाख एएनएम टीकाकरण में हिस्सा लेती हैं, Covid-19 टीकाकरण के लिए 1.54 लाख एएनएम का इस्तेमाल होगा।

कोरोना वैक्सीन पर फिर गुड न्यूज, एक और देसी कंपनी ने मांगी मंजूरी

सितंबर के मध्य से देश में कोरोना के नए मामलों में आई गिरावट
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव ने बताया कि सितंबर के मध्य से भारत में कोरोना वायरस के नए मामलों में लगातार गिरावट है। हमारे देश में केस पॉजिटिविटी लगातार घट रही है और कुल पॉजिटिविटी रेट 6.5% है। पिछले एक सप्ताह का पॉजिटिविटी रेट 3.2% है।

विश्व के बड़े देशों के मुकाबले भारत में केस कम
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने बताया कि प्रति दस लाख लोगों पर कोरोना वायरस के मामलों में अगर हम विश्व के बड़े देशों से भारत की तुलना करें तो वहां भारत से सात-आठ गुना ज़्यादा मामले हैं।

देश में अब तक 14.8 करोड़ से ज्यादा कोरोना जांच
मंत्रालय ने बताया कि देश में अब तक Covid-19 की 14.8 करोड़ से ज्यादा जांच हो चुकी है। देश में Covid-19 के कुल एक्टिव मरीजों में 54 प्रतिशत मरीज महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल, दिल्ली के हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि मध्य सितंबर के बाद से भारत में कोविड-19 के मामलों में गिरावट आ रही है जबकि कई देशों में संक्रमण के मामले लगातार बढ़ रहे हैं।

पहली स्वदेशी कंपनी, जिसने मांगी कोरोना वैक्सीन इस्तेमाल की मंजूरी

पांच महीने बाद मंगलवार को कोविड-19 के 27 हजार से कम नए मामले
भारत में पिछले 24 घंटे में करीब पांच महीने बाद मंगलवार को कोविड-19 के 27 हजार से कम नए मामले सामने आए। इसके साथ देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 97 लाख के पार चले गए, जिनमें से 91.78 लाख से अधिक लोग संक्रमण मुक्त हो चुके हैं। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से सुबह आठ बजे जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, Covid-19 के 26,567 नए मामले सामने आने के बाद देश में संक्रमण के मामले बढ़कर 97,03,770 हो गए। वहीं 385 और लोगों की मौत के बाद मृतक संख्या बढ़कर 1,40,958 हो गई।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *