CWC बैठक से पहले उठी मांग, राहुल गांधी को बनाया जाए पार्टी अध्यक्ष

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को एक बार फिर से अध्यक्ष बनाने की मांग
  • युवा यह चाहते हैं कि राहुल गांधी फिर से कांग्रेस की कमान संभालें
  • छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रविवार को राहुल गांधी को पत्र लिखकर आग्रह किया

नई दिल्ली
कांग्रेस कार्य समिति (CWC Meeting) की बैठक होने जा रही है। कई सदस्य सोमवार को होने वाली बैठक में राहुल गांधी (Rahul Gandhi) को एक बार फिर से अध्यक्ष बनाने की मांग रखने की तैयारी में हैं। साथ ही, कुछ नेताओं को यह उम्मीद है कि पार्टी की कमान संभालने के लिए राहुल गांधी (Rahul Gandhi) के तैयार नहीं होने की स्थिति में भी नेतृत्व एवं संगठन को लेकर आगे की दिशा तय करने के लिए सीडब्ल्यूसी के सदस्यों के बीच किसी न किसी रोडमैप पर सहमति बन जाएगी।

राहुल गांधी को बनाया जाए अध्यक्ष- रिपु बोरा
असम कांग्रेस अध्यक्ष रिपु बोरा ने कहा, ‘कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और राज्यसभा सांसदों के साथ बैठक के पहले वीडियो कॉन्फ्रेंस में मैंने स्पष्ट रूप से सोनिया गांधी से राहुल गांधी को कांग्रेस पार्टी का नेतृत्व देने की अपील की क्योंकि नरेंद्र मोदी केवल राहुल गांधी से डरते हैं।’

राहुल गांधी के नाम को किया जाएगा आगे
यह पूछे जाने पर कि अगर राहुल गांधी तैयार नहीं होते हैं तो क्या किसी और का नाम भी अध्यक्ष के लिए आ सकता है तो कांग्रेस के एक नेता ने कहा, ‘यह सीडब्ल्यूसी और नेहरू-गांधी परिवार को तय करना है। इतना जरूर कह सकता हूं कि सोमवार की बैठक में आगे के लिए रोडमैप पर सहमति बनने की मुझे पूरी उम्मीद है।’ पार्टी के एक युवा नेता और सीडब्ल्यूसी सदस्य ने भी कहा कि बैठक में मौका मिलने पर वह कांग्रेस अध्यक्ष के लिए राहुल गांधी का नाम प्रस्तावित करेंगे।

युवाओं की मांग हैं राहुल गांधी
उन्होंने कहा, ‘पार्टी के सभी कार्यकर्ता और खासकर युवा यह चाहते हैं कि राहुल गांधी फिर से कांग्रेस की कमान संभालें। यह काम जल्द होना चाहिए।’ पिछले साल लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद सोनिया गांधी को अंतरिम अध्यक्ष बनाया गया था। समय-समय पर कांग्रेस के कई नेता राहुल गांधी को फिर से अध्यक्ष बनाए जाने की मांग करते रहे हैं। राज्यसभा में नेता प्रतिपक्ष गुलाम नबी आजाद समेत कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं की ओर से सोनिया गांधी को पत्र लिखे जाने की बात सीडब्ल्यूसी की बैठक से एक दिन पहले सामने आई है।

CWC Meeting: …तो क्या दो धड़ों में बंट गई कांग्रेस, कल हो सकता है नेतृत्व मामले में बड़ा फैसला

भूपेश बघेल ने लिखा राहुल गांधी को पत्र
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने रविवार को राहुल गांधी को पत्र लिखकर आग्रह किया कि वह एक एक बार फिर से पार्टी की कमान संभालें। उन्होंने पत्र में कहा, ‘गांधी-नेहरू परिवार का भारत को गरीब राष्ट्र की श्रेणी से निकालकर आधुनिक राष्ट्र बनाने में बहुत बड़ा योगदान रहा है। इस परिवार ने देश के लिए जो कुर्बानियां दी हैं वो अविस्मरणीय हैं।’ बघेल ने कहा, ‘135 साल के इतिहास में कांग्रेस ने अनेक संकटों का सामना किया, लेकिन पार्टी के कार्यकर्ताओं की गांधी-नेहरू परिवार में आस्था हमेशा अडिग रही।

उन्होंने कहा, ‘देश की जनता ने लोकतांत्रिक परंपराओं के अनुरूप ही इस परिवार के प्रति अपना समर्थन जताया है।’ उन्होंने पत्र में लिखा, ‘हर चुनौती में हमारे लिए उम्मीद की किरण सोनिया जी और राहुल जी हैं। हम सभी आपके साथ हैं। छत्तीसगढ़ और देश के करोड़ों कार्यकर्ता और देशवासी आपके साथ हैं। देश जिस संकटपूर्ण दौर से गुज़र रहा है उससे आपके नेतृत्व में ही छुटकारा मिलेगा।’ मुख्यमंत्री ने कहा, ‘आपसे अनुरोध है कि असहमति के स्वरों के बीच अविचलित रहते हुए देश को नयी दिशा दिखाएं और कांग्रेस का नेतृत्व पुन: संभालें। हमें आशा है कि आपके नेतृत्व में कांग्रेस नयी ऊंचाइयां हासिल करेगी और देश के सामने खड़े संकटों पर विजय हासिल की जा सकेगी।

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने किया सोनिया का समर्थन
पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कांग्रेस में गांधी परिवार के नेतृत्व को चुनौती देने वाले पार्टी के कुछ नेताओं के कदमों का विरोध करते हुए कहा है कि इस तरह का मुद्दा उठाने का यह समय नहीं है। सिंह ने एक बयान में कहा कि देश के संवैधानिक मूल्यों और लोकतांत्रिक सिद्धांतों को बर्बाद कर रहे भाजपा नीत राजग के खिलाफ आज मजबूत विपक्ष की जरूरत है।

गांधी परिवार उपयुक्त
कांग्रेस के वरिष्ठ नेता ने कहा कि मजबूत और एकजुट विपक्ष के नहीं रहने के कारण राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) को सफलता मिली। सिंह ने कहा, ‘इस महत्वपूर्ण समय में पार्टी में बदलाव की मांग करने वाले कांग्रेस के इन नेताओं का कदम पार्टी के हितों और राष्ट्र के हितों के लिए हानिकारक होगा।’ उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस को ऐसे नेतृत्व की जरूरत है जो केवल कुछ लोगों के लिए नहीं बल्कि समूची पार्टी, समस्त कार्यकर्ताओं और देश के लिए स्वीकार्य हो ।’ साथ ही कहा कि गांधी परिवार इस भूमिका के लिए बिल्कुल उपयुक्त है ।

उन्होंने कहा, ‘सोनिया गांधी जब तक चाहती हैं उन्हें कांग्रेस का नेतृत्व करना चाहिए।’ इसके बाद राहुल गांधी को पद की जिम्मेदारी संभालनी चाहिए क्योंकि वह पार्टी का नेतृत्व करने के लिए पूरी तरह योग्य हैं। कांग्रेस की सोमवार को कार्यसमिति की हो रही बैठक के पहले पार्टी के भीतर से अलग-अलग स्वर सामने आए हैं। पूर्व मंत्रियों समेत कुछ कांग्रेसी नेताओं ने संगठन में फेरबदल और नेतृत्व में बदलाव के लिए पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखा है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *