Cyclonic Storm Burevi: तमिलनाडु-केरल समेत इन इलाकों में भारी बारिश का अलर्ट, मछुआरों को खास निर्देश

Spread the love


नई दिल्ली
तमिलनाडु, केरल और लक्षद्वीप में चार दिसंबर तक भारी से बहुत भारी बारिश (Heavy Rain) का अलर्ट जारी किया गया है। तटवर्ती क्षेत्रों में बने गहरे दबाव के क्षेत्र के चलते मौसम विभाग ने बारिश की संभावना जताई है। ऐसे में इन इलाकों में रहने वाले मछुआरों को खास निर्देश भी दिए गए हैं। जिन इलाकों में तेज बारिश की संभवना है उनमें दक्षिण-उत्तर तमिलनाडु, पुडुचेरी, कराईकल, दक्षिण-उत्तर केरल, माहे, दक्षिण तटीय आंध्र प्रदेश और लक्षद्वीप के इलाके शामिल हैं।

दो से चार दिसंबर के बीच इन इलाकों में तेज बारिश का अलर्ट
चक्रवाती तूफान बुरेवी श्रीलंका के तटीय इलाकों को पार करते हुए 2 दिसंबर को त्रिंकोमाली के निकट और 4 दिसंबर को दक्षिणी तमिलनाडु को पार करते हुए कन्याकुमारी पामबन इलाके से होकर गुजरेगा। मछुआरों को 3 दिसंबर तक बंगाल की खाड़ी और पूर्वी श्रीलंका तट आदि से दूर रहने की सलाह दी गई है। वहीं कोमोरिन क्षेत्र, मन्नार की खाड़ी और दक्षिण तमिलनाडु-केरल और लक्षद्वीप-मालदीव इलाके और पश्चिम श्रीलंका के तटीय इलाके में 2 से 4 दिसंबर तक नहीं जाने की सलाह दी गई है। 3 से 4 दिसंबर के दक्षिण-पूर्व अरब सागर से सटे इलाकों से दूर रहने के निर्देश मौसम विभाग ने दिया है।

इसे भी पढ़ें:- केंद्र सरकार बोली- हमने कभी नहीं कहा कि पूरे देश को लगेगा कोरोना का टीका

तिरुवनंतपुर में 3 दिसंबर को रेड अलर्ट: IMD
केरल के तिरुवनंतपुरम जिले में 3 दिसंबर को रेड अलर्ट जारी किया गया है। चक्रवाती तूफान बुरेवी के मद्देनजर 2 और 4 दिसंबर के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया। तमिलनाडु में चक्रवाती तूफान बुरेवी की चेतावनी के मद्देनजर पंबन पुल पर खास चक्रवात चेतावनी पिंजरा लगाया गया है। वहीं, तमिलनाडु, केरल और लक्षद्वीप में भारी से बहुत भारी बारिश की संभावना के मद्देनजर राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति ने मंगलवार को इन राज्यों की स्थिति की समीक्षा की। यहां हुई एक बैठक में कैबिनेट सचिव राजीव गाबा मछुआरों को जारी किए गए परामर्श और बचाव दलों की तैनाती का भी जायजा लिया।

Zojila Pass Avalanche: बर्फीले तूफान में फंसी गाड़ी को BRO ने किया रेस्क्यू, 5 लोगों की बचाई जान

भारी बारिश के अलर्ट के बीच अधिकारियों की अहम बैठक
एक आधिकारिक बयान के मुताबिक, तमिलनाडु और केरल के दक्षिणी तटीय इलाके में बन रहे गहरे दबाव के क्षेत्र के मद्देनजर गाबा ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से एनसीएमसी बैठक की अध्यक्षता की, जिसमें तमिलनाडु और केरल के मुख्य सचिवों और लक्षद्वीप के सलाहकार के साथ ही विभिन्न मंत्रालयों के सचिवों ने भी हिस्सा लिया।

तमिलनाडु और पुडुचेरी में तूफान ‘निवार’ ने कितनी मचाई तबाही?

मौसम विभाग ने क्या कहा
भारतीय मौसम विज्ञान विभाग के महानिदेशक ने सूचित किया कि गहरे दबाव के क्षेत्र के दौरान दो से चार दिसंबर के बीच भारी से बहुत भारी बारिश के साथ ही अलग-अलग रफ्तार की हवाएं तमिलनाडु, केरल और लक्षद्वीप के तटीय इलाकों को प्रभावित कर सकती हैं। उन्होंने कहा कि ऐसे में फसलों और आवश्यक सेवाओं को नुकसान पहुंचने की आशंका है। महानिदेशक ने बैठक में कहा कि चार दिसंबर तक मछली पकड़ने संबंधी सभी तरह की गतिविधियों को रद्द किया जाना चाहिए। वहीं, तमिलनाडु और केरल के मुख्य सचिवों के साथ ही लक्षद्वीप के सलाहकार ने अपनी तैयारियों एवं इंतजामों को लेकर जानकारी दी।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *