Dengue: डेंगू बुखार के खात्‍मे की दिशा में बड़ी सफलता, 77 फीसदी घट गया संक्रमण

Spread the love


जकार्ता
कोरोना संकट के बीच डेंगू बुखार के कहर से जूझ रहे दुनिया के कई देशों के लिए अच्‍छी खबर है। इंडोनेशिया में शोधकर्ताओं ने मच्‍छर के अंदर एक खास बैक्टिरिया को संक्रमित कराया जिससे 77 फीसदी तक डेंगू का संक्रमण घट गया है। डेंगू बुखार से हर साल 40 करोड़ लोग संक्रमित होते हैं और 25 हजार से ज्‍यादा लोगों की मौत हो जाती है।

इंडोनेशिया में वैज्ञानिकों ने वोलबचिया बैक्टिरिया से संक्रमित करोड़ों मच्‍छरों को छोड़ा। यह बैक्टिरिया डेंगू मच्‍छरों को वायरस से संक्रमित करने से रोकता है। उन्‍होंने पाया कि जिन इलाकों में इन मच्‍छरों को छोड़ा गया था वहां पर अन्‍य जगहों की तुलना में 77 फीसदी डेंगू के मामले घट गए। योजकर्ता विश्‍वविद्यालय में हेल्‍थ रिसर्चर अदि उतरीनी ने कहा, ‘यह बहुत बड़ी सफलता है, हमारे और लोगों के लिए आशा की नई किरण है।’

डेंगू के संक्रमण का मामला काफी कम
बताया जा रहा है कि शोध के दौरान बैक्टिरिया से संक्रमित मच्‍छरों को शहर के एक दर्जन इलाकों में छोड़ा गया। योजकार्ता शहर में हजारों डेंगू मरीजों की जांच के दौरान डेंगू के संक्रमण का मामला काफी कम हो गया। लंदन के हाइज‍िन एंड ट्रॉपिकल मेडिसिन में विशेषज्ञ निकोलस जेवेल ने कहा कि यह परिणाम चौंका देने वाले हैं। मैं अब तक ऐसे किसी शोध में शामिल नहीं हुआ था जहां इतनी बड़ी सफलता मिली हो।

निकोलस ने कहा कि संक्रमण से बचाव की इस स्‍तर की सुरक्षा तो केवल कॉन्‍डम ही देते हैं। विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन की रिपोर्ट के मुताबिक हर साल दुनियाभर में करीब 40 करोड़ लोग डेंगू से पीड़‍ित होते हैं। इसमें एक बड़ी तादाद भारत के लोगों की भी शामिल है। डेंगू से तेज बुखार आता है और जोड़ों में दर्द होता है। इसकी वजह से हर साल 25 हजार लोग मारे जाते हैं। डब्‍ल्‍यूएचओ ने कहा कि पिछले 50 साल में डेंगू के मामलों में करीब 30 गुना की वृद्धि हुई है। इसकी वजह मच्‍छरों के इलाके में इंसानों की बढ़ती घुसपैठ और जलवायु परिवर्तन है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *