Exclusive: ‘हिंदुस्तानी भाऊ’ 17 साल से गरीबों के लिए चलवा रहे हैं फ्री ऐंबुलेंस, कमाई पर दिया ये जवाब

Spread the love



विकास पाठक जिन्हें लोग ‘हिंदुस्तानी भाऊ’ के नाम से ज्यादा पहचानते हैं बीते साल बिग बॉस 13 में आ चुके हैं। यूट्यूब पर पाकिस्तान और हिंदुस्तान के खिलाफ बोलने वालों पर गालियां बरसाने वाले विकास असल जिंदगी बेहद नरम दिल हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि वह गरीबों के लिए मुफ्त ऐंबुलेंस चलवाते हैं साथ ही कोरोना काल में कई लोगों के अन्नदाता भी बने। 10 अक्टूबर को उनका एक गाना भी रिलीज होने वाला है जिसे उन्होंने खुद गाया है।

मुंबई में ही पले-बढ़े हैं भाऊ
नवभारतटाइम्स.कॉम से एक्सक्लूसिव बातचीत में विकास ने बताया कि ‘बिग बॉस 13’ में जाने के बाद उनकी छवि काफी बदली। उन्हें लोगों का बहुत प्यार मिला। वह अब एक गाना लेकर आ रहे हैं। इसमें उन्होंने मुंबई के लिए अपना प्यार जाहिर किया है। उनका कहना है कि मुंबई सबको बहुत देती है। विकास ने बताया कि वह बॉम्बे में ही पले-बढ़े हैं और उनका होमटाउन रत्नागिरि है।

लॉकडाउन में की लोगों की मदद
‘हिंदुस्तानी भाऊ’ से हमने पूछा कि उनकी कमाई का जरिया क्या है? इस पर उन्होंने जवाब दिया, मैं बिजनसमैन नहीं हूं। ‘बिग-बॉस 13’ से पहले छोटा-मोटा काम करता था। मैं छोटा इंसान हूं। ऊपर वाले ने बहुत दिया है। पैसे की कमी नहीं है। इसके बाद उन्होंने खुलासा किया कि 17 साल से वह जरूरतमंदों के लिए फ्री ऐंबुलेंस चला रहे हैं। अभी 2 ऐंबुलेंस की व्यवस्था और की है। वहीं लॉकडाउन में वह रोजाना 1000 लोगों को खाना देते थे। उन्होंने बताया कि वह 3 महीने के अंदर 7 से 8 ट्रक खाना बांट चुके हैं। विकास ने बेजुबान जानवरों से लेकर जरूरतमंद इंसान हर किसी को खाना खिलाया।

पॉलिटिक्स में जाने पर दिया ये जवाब
विकास ने कहा कि हिंदुस्तान के जिन लोगों ने मुझे बनाया, उनको मेरी जरूरत थी। और ऐसे टाइम पर मैं उनकी मदद न करता तो धिक्कार है मेरी जिंदगी पर। उन्हें हर सिलेब्रिटी की जरूरत थी लेकिन कोई नहीं आया। सब मास्क और सेनिटाइजर लगाकर घर पर बैठे रहे। हिंदुस्तानी भाऊ से जब पूछा गया कि क्या वह कभी पॉलिटिक्स में जाना चाहते हैं तो वह बोले, अगर मैं पॉलिटिक्स में गया तो भाऊ की जवान बंद हो जाएगी। कहीं न कहीं से टोपी वाला नेता कहेगा कि ए मत बोल। बोले मुझे लाल बत्ती की जरूरत नहीं।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *