Explainer: केरल, कर्नाटक से शुरू होकर ब्रिटेन, पाकिस्‍तान और बांग्‍लादेश पहुंचा लव जिहाद… आखिर है क्‍या

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • हाल ही में यूपी के शहर कानपुर में कथित लव जिहाद के कई मामले सामने आए हैं
  • लव जिहाद की चर्चा लगभग एक दशक पुरानी है, यह दक्षिण भारत के राज्‍यों से शुरू हुई
  • आज लव जिहाद के मामले देश के बाहर ब्रिटेन, पाकिस्‍तान व बांग्‍लादेश में भी देखे जा रहे हैं

कानपुर
कानपुर में इन दिनों कथित लव जिहाद का मामला तूल पकड़ रहा है। विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल जैसे हिंदूवादी संगठनों की ओर से विरोध की आवाज उठ रही है। धर्म परिवर्तन के पांच मामले सामने आने के बाद आरोप लग रहे हैं कि शहर में एक संगठित गिरोह सक्रिय है। आरोप है कि इस गिरोह के सदस्य अपनी पहचान छिपाकर सोशल मीडिया पर फेक आईडी बनाते हैं। यही नहीं दूसरे धर्म की लड़कियों को प्रेम जाल में फंसाकर उनका धर्म परिवर्तन कराने के बाद निकाह करते हैं। संगीन आरोपों से पुलिस भी हैरान है। इस मामले में अब आईजी ने एसआईटी का गठन किया है। आइए जानते हैं कि क्‍या है लव जिहाद:

कार बाजार पर कोरोना की मार, क्या कंज्यूमर को मिलेगी बड़ी छूट, जानने के लिए इस चर्चा में भाग लें

पहली बार साल 2009 में मुद्दा बना
साल 2009 में पहली बार केरल और कर्नाटक में बड़े पैमाने पर हिंदू लड़कियों के धर्म परिवर्तन के मामले सामने आए। धीरे-धीरे पूरे देश में और यहां तक कि भारत के बाहर पाकिस्‍तान और ब्रिटेन में भी लव जिहाद के केस होने का दावा किया गया। समय-समय पर हिंदू, सिख और ईसाई संगठनों ने इसको लेकर अपनी चिंता जताई है। हालांकि, मुस्लिम संगठनों ने इन आरोपों से इनकार किया है।

‘लव जिहाद’ पर एक्शन में योगी, कहा- लड़कियों को धोखे में रखकर शादी करने वाले को बख्शे नहीं

केरल कैथलिक बिशप काउंसिल ने उठाया था मुद्दा
लव जिहाद के शुरुआती मामले केरल और तटीय कर्नाटक के मैंगलोर इलाके में सामने आए। अक्‍टूबर 2009 में केरल कैथलिक बिशप काउंसिल ने दावा किया कि लगभग 4,500 लड़़कियों को लव जिहाद का निशाना बनाया गया। वहीं हिंदू जनजागृति समिति का आरोप था कि अकेले कर्नाटक में ही 30 हजार लड़कियों का धर्म परिवर्तन किया गया।

साल 2014 में सिख काउंसिल ने की चर्चा
सिख काउंसिल को साल 2014 में ऐसी खबरें मिलीं कि ब्रिटेन के सिख परिवारों की लड़कियां लव जिहाद में फंसाई जा रही हैं। इनमें कहा गया कि इन लड़कियों को बाद में पतियों के हाथों हिंसा का सामना करना पड़ता है, कुछ को पाकिस्‍तान में हमेशा के लिए छोड़ दिया गया।

कानपुर: लव जिहाद आरोप का सच क्या? मिश्रित आबादी में ‘गैंग’…लव, धोखा फिर धर्मांतरण!

सिमी, पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया पर लगे आरोप
लव जिहाद के पीछे कट्टर इस्लामिक संगठन सिमी और फिर पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया को जिम्‍मेदार बताया गया। केरल में कुछ फिल्‍मों पर आरोप लगा कि वे लव जिहाद को बढ़ावा दे रही हैं। हालांकि उनके निर्माताओं ने इन आरोपों को बेबुनियाद बताया।

अखिला धर्म परिवर्तन करके सादिया बन गईं

साल 2017 में अखिला बनी हादिया, सुप्रीम कोर्ट पहुंचा केस
मई 2017 में केरल हाई कोर्ट ने हिंदू युवती अखिला (धर्म परिवर्तन के बाद हादिया) और मुस्लिम युवक शफीन जहां के निकाह को अवैध ठहरा दिया। इसके पीछे आधार दिया गया कि इसमें अखिला के परिवार की सहमति नहीं थी। अखिला के पिता का कहना था कि धर्म परिवर्तन और निकाह के तार इराक और सीरिया तक जुड़े हैं। पुलिस जांच में निकले इस तथ्‍य पर कोर्ट ने निकाह को अवैध करार दिया कि केरल में बहुत से युवा धर्म परिवर्तन कर कुख्‍यात आतंकवादी संगठन आईएआईएस में शामिल हो रहे हैं। सुप्रीम कोर्ट में इसके खिलाफ अपील होने पर सुप्रीम कोर्ट ने हाई कोर्ट के फैसले को पलट दिया और कहा कि अखिला अपनी मर्जी से निकाह करने को आजाद है। हां, कोर्ट ने एनआईए से कहा कि मामले की जांच टेरर एंगल से करती रहे।

Chennai की युवती का UK से किडनैप करके ले गए बांग्लादेश! लव जिहाद के ऐंगल से जांच

केरल के चर्च ने साल 2020 में फिर किया आगाह
केरल की एक कैथलिक चर्च ने ‘लव जिहाद’ का मुद्दा उठाते हुए दावा किया कि बड़ी तादाद में राज्‍य के ईसाई समुदाय की महिलाओं को लुभाकर इस्‍लामिक स्‍टेट और आतंकवादी गतिविधियों में धकेला जा रहा है। कार्डिनल जॉर्ज ऐलनचैरी की अध्‍यक्षता वाली पादरियों की एक संस्‍था ने राज्‍य सरकार पर भी आरोप लगाया कि वह ‘लव जिहाद’ के मामलों को गंभीरता से नहीं ले रही। इस्‍लामिक संगठन पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) ने इन आरोपों से इनकार किया वहीं विश्‍व हिंदू परिषद ने बयान का स्‍वागत किया।

‘ईसाइयों का धर्म परिवर्तन फिर ISIS में भर्ती’
पादरियों की धर्मसभा ने एक पुलिस रिकॉर्ड का हवाला देते हुए कहा कि जिन 21 लोगों को आईएस में भर्ती किया गया था, उनमें से आधे ईसाई थे जिन्‍होंने अपना धर्म बदला था। यह घटना पूरे समुदाय के लिए एक आंख खोलने वाली होनी चाहिए। यह भी पता चला है कि कई लड़कियों को लव जिहाद के जरिए से आतंकवादी गतिविधियों में इस्तेमाल किया जा रहा था। यह एक गंभीर मामला है, लव जिहाद कोई कोरी कल्पना नहीं है।’

केरल चर्च का दावा- ईसाई लड़कियों को ‘ल‍व जिहाद’ में फंसाकर आतंकवादी बना रहा है आईएस

चेन्‍नै की स्‍टूडेंट… लव जिहाद में ब्रिटेन से पहुंची बांग्‍लादेश
अगस्‍त 2020 में नैशनल इंवेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) ने कुछ बांग्लादेशी नागरिकों के खिलाफ ह्यूमन ट्रैफकिंग का केस दर्ज किया है। यह केस तमिलनाडु के चेन्नै में रहने वाली स्‍टूडेंट की किडनैपिंग से जुड़ा है, जिसे ब्रिटेन से किडनैप कर बांग्‍लादेश ले जाया गया। NIA इस केस की जांच लव जिहाद के ऐंगल से कर रही है। इस मामले में युवती के पिता ने सीसीबी में 21 मई को केस दर्ज कराया था।

मेरठ लव जिहाद: मां-बेटी हत्याकांड में शमशाद अरेस्ट



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *