India China Standoff: भारत ने चीन को दिया करारा जवाब, कहा- पीछे हटना ही होगा

Spread the love


नई दिल्ली
चीन की ओर से भड़काऊ बयान आने के बाद भारत ने भी पलटवार किया है। भारत ने कहा है कि दोनों देशों के बीच तनाव (India China Border Tension) को कम करने के लिए आम सहमति बनी है कि चीन को पीछे हटना ही होगा और ऐसा करना चीन का दायित्व है। जब तक चीन ऐसा नहीं करता है तब तक हालात सामान्य नहीं होंगे। भारत ने हालात को सामान्य करने की जिम्मेदारी चीन को दे दी है और कहा है कि भारत सकारात्क पहल पर सकारात्मक रूख अपनाएगा।

भारत की ओर से विदेश मंत्रालय ने चीन को यह संदेश तब दिया जब पिछले दों दिनों से लगातार चीन सीमा पर उलटे भारत पर जिम्मेदारी थोप रहा था। गुरुवार को भारत ने पलटवार करते हुए कि दोनों देशों के विदेश मंत्रियों और रक्षा मंत्रियों के बीच हुई बातचीत में आम सहमति बनी थी कि LAC का सम्मान होगा और पूर्व की स्थिति बहाल होगी। साथ ही सेनाओं के पीछे हटने की प्रक्रिया को जल्दी से जल्दी पूरा करने की भी सहमति बनी थी। लेकिन चीन ने सहमति से एक बार फिर पीछे हटते हुए उल्टे भारत पर इसकी जिम्मेदारी थोप दी।

भारत ने कहा कि पूर्वी लद्दाख में पैंगोंग झील (Pangong Lake) सहित तमाम एलएसी पर चीनी सेना जल्द से जल्न्द पीछे हटे। वहीं विदेश मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार अगले हफ्ते दोनों देशों के अधिकारियों के बीच मीटिंग होनी है। इसमें भारत चीन से पीछे हटने के लिए एक टाइम लाइन बनाने की शर्त दे सकता है। भारत ने चीन से कहा कि सीमा पर तनाव है और सैन्य टकराव से बचने के लिए कूटनीतिक स्तर पर हुई सहमति का सम्मान करना जरूरी है।

वहीं चीनी कंपनी की ओर से भारत के अहम लोगों से जुड़ा पर्सनल डेटा-जानकारी जुटाने के मसले पर विदेश मंत्राल ने फिर दोहराया कि भारत ने यह मसला चीन सरकार के साथ उठाया है। चीन की तरफ से कहा गया है कि यह प्राइवेट कंपनी है। सरकार से इसका कोई संबंध नहीं है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *