Mirzapur News: 3 बच्चों का हत्यारा कौन? पुलिस खाली हाथ, सीएम योगी ने परिवार से की बात, ये मांग

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • मिर्जापुर में तीन बच्चों की हत्या के मामले में पुलिस अब तक खाली हाथ
  • पीड़ित परिवार वालों से सीएम योगी आदित्यनाथ ने बात कर दिया भरोसा
  • विधायक रत्नाकर मिश्रा पुलिस पर बरसे, परिवार की सीबीआई जांच की मांग
  • तीनों बच्चे 1 दिसंबर को बारात जाने के बाद जंगल में बेर खाने निकले थे

मनीष सिंह, मिर्जापुर
मिर्जापुर में तीन बच्चों की हत्या का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस मामले को गंभीरता से लिया है। नगर विधायक रत्नाकर मिश्रा ने पीड़ित परिवार से मुलाकात के बाद अपने फोन से सीएम योगी और परिवार वालों की बात कराई। पीड़ित परिवार ने सीएम से इस मामले में सीबीआई जांच कराने की मांग की है। पुलिस ने वारदात के खुलासे के लिए एक एसआईटी बनाई है।

पुलिस के हाथ खाली, आधा दर्जन हिरासत में
इस मामले में बनाई गई एसआईटी के हाथ अब तक खाली हैं। लहंगपुर पुलिस चौकी में एसपी पूरा दिन रहे। अब तक हत्यारों का कोई सुराग नहीं मिल पाया है। पुलिस इस मामले में आधा दर्जन लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में ले चुकी है। मुख्यमंत्री ने पीड़ित परिवार को सांत्वना देने के साथ ही जिले के अफसरों को निर्देश दिए हैं कि मामले का जल्द से जल्द खुलासा किया जाए। बीजेपी विधायक रत्नाकर मिश्रा ने बताया कि इस मामले में अपराधियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाएगी। उन्होंने कहा कि किसी भी सूरत में अपराधियों को बख्शा नहीं जाएगा।

नगर विधायक ने कहा कि तीनों बच्चों की हत्या की गई है। उनकी आंख भी निकाल ली गई। पुलिस इस मामले पर पर्दा डालने की कोशिश न करे। पुलिस अपराधियों को तत्काल गिरफ्तार करें अन्यथा कार्रवाई का सामना करने के लिए तैयार रहे। बीजेपी विधायक ने बताया कि सीएम योगी ने पीड़ित परिवार को सांत्वना देने के साथ मामले के जल्द खुलासे का आश्वासन दिया है। उधर शुक्रवार को समाजवादी पार्टी के नेता पीड़ित के घर पहुंचे और परिवार का हालचाल लिया।

वकीलों ने किया न्यायायिक कार्य का बहिष्कार
लालगंज में अधिवक्ता समिति के अध्यक्ष अरुण त्रिपाठी के नेतृत्व में वकीलों ने न्यायिक कार्य से अलग रहते हुए तहसील मुख्यालय पर विरोध प्रदर्शन किया। उधर अपना दल एस ने परिवार को मुआवजा दिए जाने की मांग की है। पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष और एमएलसी आशीष पटेल के साथ छानबे सीट से विधायक राहुल कोल ने प्रमुख सचिव गृह को पत्र लिखा है। साथ ही पीड़ित परिवार को दो-दो लाख रुपया मुआवजा देने की मांग की है।

पुलिस के लिए चुनौती, सियासी दल पहुंच रहे सांत्वना देने
लालगंज थाना क्षेत्र के बामी गांव में तीन चचेरे भाइयों की हत्या जहां एक तरफ पुलिस के लिए चुनौती बनी हुई है, वहीं दूसरी तरफ मामले के खुलासे के लिए SIT भी गठित की गई है। सियासी दलों के नेता भी सांत्वना देने पहुंच रहे हैं। बता दें कि वामी गांव में एक ही परिवार के 14 वर्षीय हरिओम, सुधांशु और शिवम के शव मिले थे। तीनों बच्चे 1 दिसंबर को घर पर आई बारात विदा होने के बाद पास के ही कुशियरा जंगल में बेर खाने के लिए निकले थे। घर वापस नही लौटने पर परिजनों ने 2 दिसंबर को दोपहर में लालगंज थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। बुधवार की शाम को कामापुर गांव के लोहरिया बंधी के पास से तीनों का शव मिला था।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *