North Korea: किम जोंग उन की जेल में मौत की भीख मांगते हैं कैदी, बंदियों ने बताई भयावह कहानी

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • उत्‍तर कोरिया के सनकी तानाशाह किम जोंग उन ने अपनी जेलों में क्रूरता की सारी हदें पार कर दी हैं
  • एक मानवाधिकार समूह ने खुलासा किया है कि जेल में कैदियों के साथ पशुओं से भी खराब व्‍यवहार
  • एक बंदी को तो जेल के अंदर 16 घंटे तक पैर मोड़कर बैठे रहने के लिए बाध्‍य किया गया

प्‍योंगयांग
उत्‍तर कोरिया के सनकी तानाशाह किम जोंग उन ने अपनी जेलों में क्रूरता की सारी हदें पार कर दी हैं। एक मानवाधिकार समूह ने खुलासा किया है कि किम जोंग उन का प्रशासन सुनवाई से पूर्व बंदियों को रखने के लिए बनाई गई जेल में कैदियों के साथ पशुओं से भी खराब व्‍यवहार करता है। एक बंदी को तो 16 घंटे तक पैर मोड़कर बैठे रहने के लिए बाध्‍य किया गया। एक पूर्व बंदी ने बताया कि महिला कैदियों के साथ जेल में रेप भी हो जाता है।

अमेरिका स्थित संस्‍था ह्यूमन राइट वॉच ने उत्‍तर कोरिया की जेलों में बंद रहे कई लोगों से किए साक्षात्‍कार के आधार पर वहां की जेलों में अमानवीय व्‍यवहार और घटिया सुविधाओं का खुलासा किया। इन बंदियों ने बताया कि जेलों के अंदर बंदियों को जमकर प्रताड़‍ित किया जाता है। बता दें कि परमाणु हथियारों से लैस नॉर्थ कोर‍िया ने खुद को दुनिया से काट रखा है जिससे उसके आपराधिक न्‍याय प्रणाली के बारे में बाहरी दुनिया को बहुत कम पता है।

उत्‍तर कोरियाई जनता के सामने रो पड़े तानाशाह Kim Jong Un, मांगी माफी

‘पैर मोड़कर खड़े रहने के लिए बाध्‍य किया जाता है’
एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि ट्रायल से पहले हिरासत में रखे गए कैदियों को डंडे से जमकर पीटा जाता है। उन्‍होंने कहा कि नियम कहते हैं कि ऐसे कैदियों की प‍िटाई नहीं करनी है लेकिन हमें शुरुआती जांच के दौरान उसकी स्‍वीकारोक्ति चाहिए होती है। पूर्व कैदियों ने बताया कि उन्‍हें फर्स पर लगातार बैठे रहने, झुकने या फिर पैर मोड़कर खड़े रहने के लिए बाध्‍य किया जाता है। यह कई बार 16 घंटे तक हो जाता था।


कैदियों को हाथों, डंडे और चमड़े की बेल्‍ट से पीटा जाता है। कई बार उन्‍हें जेल के मैदान के 1000 चक्‍कर लगाने के लिए सजा दी जाती है। पूर्व कैदी पार्क जी चेओल ने कहा क‍ि अगर कोई कैदी बिना अनुमति के अपने सेल के अंदर चला जाता है तो उसके हाथ बांधकर अन्‍य कैदियों से उसके ऊपर से चलने के लिए कहा जाता है। एक अन्‍य पूर्व कैदी यून यंग चोइल ने कहा कि जेल के अंदर आपके साथ ऐसा व्‍यवहार होता है जैसे आपकी स्थिति पशुओं से भी खराब है।

जेल के अंदर महिला बंदियों के साथ यौन उत्‍पीड़न
एक महिला बंदी ने बताया कि जेल के अंदर महिला बंदियों के साथ यौन उत्‍पीड़न आम है। वर्ष 2015 में उत्‍तर कोरिया से फरार होने वाली एक महिला ने बताया कि उसके पूछताछ करने वाले अधिकारी ने डिटेंशन सेंटर के अंदर ही रेप किया। एक अन्‍य अधिकारी ने उनके साथ यौन उत्‍पीड़न किया। इस दौरान कोई महिला कैदी विरोध नहीं कर सकती थी। हालत यह है कि कई कैदी इस अमानवीय व्‍यवहार से इतना ज्‍यादा त्रस्‍त हो जाते हैं कि वे मौत की भीख मांगने लगते हैं।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *