North Korea military parade: ‘सोती’ रही दुनिया, रातभर गरजे तानाशाह किम जोंग उन के फाइटर जेट!

Spread the love


प्‍योंगयांग
उत्‍तर कोरिया के बहुचर्चित सैन्‍य परेड का बेसब्री से इंतजार कर रहे दुनियाभर के लोगों को बड़ा झटका लगता दिख रहा है। दक्षिण कोरिया की मीडिया में आई खबरों में कहा जा रहा है कि उत्‍तर कोरिया की सैन्‍य परेड पहले ही संपन्‍न हो चुकी है। सूत्रों के मुताबिक उत्‍तर कोरिया ने शनिवार की अलसुबह ही सैन्‍य परेड का आयोजन पूरा कर लिया है। इसे मध्‍यरात्रि से सुबह दो बजे के बीच अंजाम दिया गया।

दक्षिण कोरिया की न्‍यूज वेबसाइट एनके न्‍यूज ने सूत्रों के हवाले से बताया कि उन्‍हें रातभर उत्‍तर कोरिया की राजधानी प्‍योंगयांग के ऊपर फाइटर जेट के उड़ने की जानकारी मिली है। उनके साथ ड्रोन विमान और घातक हथियार भी दिखाई दिए। उन्‍होंने यह भी बताया कि शुक्रवार की देररात और शनिवार की अल सुबह तक जोरदार आतिशबाजी हुई। दक्षिण कोरिया के ज्‍वाइंट चीफ्स ऑफ स्‍टॉफ ने शनिवार को कहा क‍ि ऐसा लगता है कि उत्‍तर कोरिया ने पहले ही सैन्‍य परेड का आयोजन कर लिया है।

‘विदेशी राजनयिकों को भी परेड में नहीं जाने दिया गया’

उन्‍होंने कहा कि सैन्‍य परेड में बड़ी संख्‍या में लोग शामिल हुए। इस पूरे घटनाक्रम पर दक्षिण कोरिया और अमेरिका की खुफिया एजेंसियां नजदीकी से निगरानी कर रही हैं। बताया जा रहा है कि उत्‍तर कोरिया में सरकारी अखबार भी अभी प्रकाशित नहीं हुआ है। माना जा रहा है कि उत्‍तर कोरिया अपने घातक हथियारों को छिपाना चाहता है ताकि दुनियाभर को इसकी सटीक जानकारी न मिल सके। इस पूरे कार्यक्रम को कितना सीक्रेट रखा गया था कि इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि विदेशी राजनयिकों को भी परेड में नहीं जाने दिया गया।

बता दें कि किलर मिसाइलों को पागलों की हद तक पसंद करने वाले उत्‍तर कोरिया के क्रूर तानाशाह किम जोंग उन ने एक बेहद घातक नई परमाणु मिसाइल बनाई है जो पूरे अमेरिका के किसी भी शहर को तबाह कर सकती है। उत्‍तर कोरिया के मिसाइल बनाने की यह खबर ऐसे समय पर आई है जब किम जोंग उन और पश्चिमी देशों के बीच बातचीत रुक गई है। इस मिसाइल का नाम नाम Hwasong-15 है और माना जा रहा है कि किम जोंग उन ने इसे सैन्‍य परेड में पेश किया है। हालांकि अभी इसकी पुष्टि नहीं हुई है।

बताया जा रहा है कि किम जोंग उन के सैन्‍य परेड का मुख्‍य आकर्षण Hwasong-15 मिसाइल है। यह मिसाइल 1000 किलोग्राम के विस्‍फोटक को लेकर 8000 मील या करीब 12800 किमी तक मार कर सकती है। उत्‍तर कोरिया की सरकारी मीडिया ने बताया कि इन नई अंतरमहाद्वीपीय मिसाइल के जरिए विशाल परमाणु हथियारों को ले जाया जा सकता है जिसके जरिए पूरे अमेरिका को निशाना बनाया जा सकता है।

नई मिसाइल को छिपाने के लिए एक नया ढांचा बनाया गया
इससे पहले इस सैन्‍य परेड के तैयारियों की तस्‍वीरों से खुलासा हुआ था कि किम जोंग उन की इस नई मिसाइल को छिपाने के लिए एक नया ढांचा बनाया गया है। इसके अलावा राजधानी प्‍योंगयांग में परेड ग्राउंड को जोड़ने वाले ओकरयू पुल का भी मरम्‍मत किया गया है। कुछ लोगों का दावा है कि पुल की मरम्‍मत इसलिए की गई है ताकि उस पर से विशाल मिसाइलों को आसानी से ले जाया जा सके।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *