Russian Air Force Airstrike: सीरिया में रूसी वायु सेना की ताकत देखिए, एयरस्ट्राइक में मारे ISIS के 200 से ज्यादा आतंकी!

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • सीरिया में रूसी लड़ाकू विमानों ने बरपाया कहर, 200 आतंकियों को मार गिराया
  • आईएसआईएस के ठिकाने पर रूसी विमानों ने दागीं कई मिसाइलें और बम
  • सीरियाई सरकार का समर्थन करता है रूस, तुर्की की सेना के साथ लगाता है गश्त

दमिश्क
सीरिया में राष्ट्रपति बसर अल असद सरकार का समर्थन कर रहे रूस ने एयरस्ट्राइक कर आईएसआईएस के कम से कम 200 आतंकियों को मार गिराया है। रूसी वायुसेना के लड़ाकू विमानों ने पलमायरा के उत्तर-पूर्व में आईएसआईएस के ठिकानों पर कई मिसाइलें दागीं। सीरिया में रूसी सेना की अगुवाई कर रहे रियर एडमिरल अलेक्जेंडर कारपोव ने हमले की पुष्टि की है। इन ठिकानों पर आईएसआईएस के आतंकी विस्फोटक उपकरणों को बनाते थे।

खुफिया सूचना के बाद की गई एयरस्ट्राइक
रियर एडमिरल अलेक्जेंडर कारपोव ने कहा कि रूसी बलों को जानकारी मिली थी कि आतंकवादियों ने पलमायरा के उत्तर-पूर्व में एक बेस स्थापित किया है। यहां से आतंकी संगठन अपने सदस्यों को हमले के लिए भेजने और विस्फोटक उपकरणों को बनाने का काम करते थे। कारपोय ने बताया कि सैटेलाइट और खुफिया एजेंसियों के जरिए इसकी पुष्टि होने के बाद रूसी एयरोस्पेस फोर्स ने उनके ठिकानों पर हवाई हमले किए।

आतंकवादियों को भारी नुकसान पहुंचाने का दावा
उन्होंने दावा किया कि इस हवाई हमले में दो शेल्टर्स, 200 से ज्यादा आतंकवादी, भारी मशीनगनों से लैस 24 पिकअप ट्रक, 500 किलोग्राम गोला बारूद और विस्फोटक उपकरणों को बनाने की कई समाग्रियों को नष्ट कर दिया गया। रूसी एडमिरल ने दावा किया कि इन आतंकवादियों का मकसद 26 मई को होने वाले राष्ट्रपति चुनाव से पहले देश में अस्थिरता पैदा करना था। वे सरकारी एजेंसियों पर आतंकवादी हमलों की योजना बना रहे थे।

सीरिया का ऐतिहासिक शहर है पलमायरा
पलमायरा ऐतिहासिक शहर है। यह पाल्मीरिन साम्राज्य की राजधानी थी जो रोमन साम्राज्य के सबसे अमीर शहरों में से एक था। यूनेस्को की विश्व धरोहर स्थल में शामिल पलमायरा के प्राचीन खंडहर और स्मारकों को 2015 में आईएसआईएस के आतंकवादियों ने नष्ट कर दिया था। इसमें बेल का मंदिर, बालशमीन का मंदिर, आर्क ऑफ ट्रंफ और घाटी में मकबरों से खंभों को नष्ट कर दिया गया था।

अब रूस ने सीरिया में मचाई तबाही, 130 एयरस्टाइक में मार गिराए ISIS के 21 आतंकी
सीरिया के हर हिस्से में जारी है लड़ाई
इस समय भी सीरिया के बादिया क्षेत्र में सरकार समर्थित सेना और आईएसआईएस के लड़ाकों के बीच भीषण युद्ध जारी है। जिसमें रूसी सेना भी सीरियाई सरकारी सेना की तरफ से सहायता कर रही है। साल 2014 के बाद से ही सीरिया और ईराक आईएसआईएस का आतंक झेल रहे हैं। इससे पूरा सीरिया ही जंग के मैदान में बदल गया है। वर्तमान में सीरिया की राजधानी दमिश्क को छोड़कर कोई भी ऐसा इलाका नहीं है जो सीधे सरकार के नियंत्रण में हो। हर जगह या तो स्थानीय हथियारबंद गुट कब्जा बनाए हुए हैं या फिर आईएसआईएस के बचे हुए आतंकी।

‘हमने इजरायल की कई मिसाइलों को हवा में ही मार गिराया’, सीरियाई सेना ने किया बड़ा दावा
कई देशों के बीच जंग का मैदान बना सीरिया
आईएसआईएस के आतंकियों के हाथों तबाह हो चुका सीरिया अब दुनियाभर के शक्तिशाली देशों के बीच जंग का मैदान बनता जा रहा है। वहां रूस और अमेरिका के बीत पहले से ही तनातनी जारी है। जिसमें रूस सीरियाई सरकार का समर्थन कर रही है, वहीं अमेरिका उनका विरोध। अमेरिका ने सीरिया के अल्पसंख्यक गुट कुर्दों के सैन्य दस्तों को समर्थन दिया हुआ है। वहीं, इजरायल भी सीरिया में ईरानी मिलिशिया की मौजूदगी को खत्म करने के लिए लगातार हमले कर रहा है। तुर्की भी सीरिया में भाड़े के सैनिकों के दम पर अपने हितों को सााधने में जुटा है।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *