Sushant Death Case: क्या है वो ड्रग MDMA, जिसे रिया ने सुशांत सिंह राजपूत को दिया!

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • सुशांत सिंह मौत मामले में ड्रग ऐंगल का खुलासा
  • दिवंगत अभिनेता की दोस्त रिया चक्रवर्ती के वॉट्सऐप चैट से हुआ खुलासा
  • बता दें कि सुशांत मौत की जांच सीबीआई कर रही है जबकि ड्रग ऐंगल नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो भी ऐक्शन में

नई दिल्ली
अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput Death Case) मौत मामले में हर रोज बड़े खुलासे हो रहे हैं। ताजा खुलासा दिवंगत अभिनेता की दोस्त रिया चक्रवर्ती (Ria Chakravarthi) के एक वॉट्सऐप चैट से हुआ है। इस चैट को हालांकि रिया ने तो डिलीट कर दिया था लेकिन अधिकारियों के इसे रीट्रीव किया तो इसमें ‘ड्रग ऐंगल’ भी सामने आया है। दरअसल, इस चैट में रिया किसी गौरव से एक प्रतिबंधित ड्रग्स MD (MDMA Drug News )की चर्चा कर रही है। इसका पूरा नाम Methylenedioxymethamphetamine है और इसे शार्ट में MDMA भी कहते हैं। कथित तौर पर रिया ने यही ड्रग्स सुशांत को भी दिया था। आइए जानते हैं कि क्या है यह ड्रग्स….

-एमडीएमए एक सिंथेटिक ड्रग (MDMA Drug Hindi) है जो उत्तेजक और मतिभ्रम के रूप में काम करती है। यह शरीर में एक स्फूर्तिदायक प्रभाव पैदा करती है, समय और धारणा में विकार पैदा करती है और संवेदी अनुभवों से आनंद बढ़ाती है। इसे एक एंटेक्टोजेन की श्रेणी में रखा गया है यानी ऐसी ड्रग सेल्फ अवैयरनेस और सहानुभूति को बढ़ा सकती है।

पढ़ें, सुशांत की मौत में ड्रग ऐंगलः बिहार से JDU का रिया पर निशाना, जांच की मांग
-आम तौर पर MDMA का प्रयोग टैबलेट या कैप्सूल के तौर पर किया जाता है। इस ड्रग के आदि लोग इसे इसी प्रकार से प्रयोग करते हैं।

-रिसर्चरों का कहना है कि MDMA के साथ कई ड्रग्स का काम्बिनेशन खतरनाक होता है।

Sushant singh rajput death case: बीजेपी ने लगाए आरोप, मुंबई पुलिस को क्यों नहीं दिखा ड्रग्स का एंगल

पढ़िए,वकील ने कहा- रिया चक्रवर्ती ब्लड टेस्ट के लिए हैं तैयार

-जब कोई शख्स MDMA टैबलेट या कैप्सूल के रूप में लेता है तो औसतन इसका असर आने में 45 मिनट तक का वक्त लगता है। बता दें कि रिया की पांचवी चैट भी 25 नवंबर 2019 की है और इस चैट में रिया चक्रवर्ती से जया कहती हैं, ‘चाय, कॉफी या पानी में 4 बूंदें डालो और उसे पीने दो। असर देखने के लिए 30 से 40 मिनट रुको।’

पढ़ें, रिया और श्रुति मोदी की चैट में खुलासा- सुशांत ने किया था गांजा छोड़ने का वादा?

-इस ड्रग का असर कई बार 15-30 मिनट में पीक पर होता है यह औसतन 3 घंटे तक रहता है। हालांकि कुछ दिनों बाद इसका साइडइफेक्ट भी आता है। आम तौर पर लोग एक या दो टैबलेट एकसाथ लेते हैं। एक टैबलेट में आमतौर पर 50-150 मिलीग्राम MDMA होता है।

सुशांत की मौत में अब ड्रग्स का ऐंगल

सुशांत की मौत में अब ड्रग्स का ऐंगल



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *