UAE ने 200 से ज्यादा इजरायली नागरिकों को एयरपोर्ट पर किया ‘नजरबंद’, दुबई में प्रवेश से रोका

Spread the love


दुबई
संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) ने दुबई एयरपोर्ट में 200 से ज्यादा इजरायली नागरिकों को नजरबंद कर दिया है। इन लोगों को एयरपोर्ट छोड़कर दुबई शहर में जाने की इजाजत नहीं दी गई है। यूएई के अधिकारियों के अनुसार, इजरायल के इन नागरिकों के पास देश में प्रवेश करने के लिए वैध वीजा नहीं है। ये सभी नागरिक यूएई के कम लागत वाली फ्लायदुबई एयरलाइन की उड़ान से सोमवार को यूएई पहुंचे थे।

एयरलाइन की गलती से फंसे इजरायली नागरिक
यूएई की सरकारी मीडिया ने बताया कि फ्लायदुबई एयर कंपनी ने यात्रियों के वीजा का ध्यान नहीं रखा। इसी कारण दुबई एयरपोर्ट पर इन यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। यूएई पहुंचने वाले इजरायली नागरिकों को अभी भी एंट्री वीजा की आवश्यकता है। जिसे एयरलाइन को पहले ही देखना चाहिए था।

यूएई ने एक दिन पहले ही बदला था वीजा नियम
यूएई मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, इजरायली नागरिकों को बताया गया कि वे विशेष इलेक्ट्रॉनिक फार्म को भरने के बाद से यूएई में प्रवेश कर पाएंगे। क्योंकि रविवार देर रात यूएई ने अपनी वीजा के नियमों में बदलाव किया था। हालांकि, इसकी सूचना सभी एयरलाइंस, दूतावास और मीडिया को भी दी गई थी।

26 नवंबर से शुरू हुई थी सीधी उड़ान
सितंबर में दोनों देशों ने शांति समझौते के बाद नवंबर में मुक्त वीजा के समझौते पर हस्ताक्षर किए थे। जिसमें दोनों देशों के नागरिकों को 90 दिनों तक के लिए बिना वीजा के यात्रा की अनुमति थी। इसी के बाद 26 नवंबर से फ्लायदुबई एयरलाइन ने अपनी उड़ानों को शुरू किया था। यह यूएई की पहली एयरलाइन है जिसने इजरायल के लिए सीधी और नियमित फ्लाइट को शुरू किया है।

दोनों देशों के बीच हुए कई समझौते
दोनों देशों के बीच हुए हवाई यात्रा समझौते के अनुसार, एक सप्ताह में कुल 28 नियमित उड़ानें इजयायल से यूएई आएंगी। इसके अलावा इजरायल के रेमन हवाई अड्डे से असीमित संख्या में चार्टर्ड उड़ानों को भी अनुमति दी गई है। इसके अलावा दोनों देशों के बीच राजनयिक संबंध स्थापित करने, हवाई यातायात, वीजा मुक्त यात्रा, निवेश संरक्षण और विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में सहयोग पर समझौते किए गए हैं।



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *