Water on Mars: वीरान ही नहीं, कभी सूखा-कभी गीला था मंगल, लाल ग्रह पर NASA के Curiosity रोवर ने दिया डेटा

Spread the love


मंगल ग्रह आज एकदम वीरान और बंजर-सा नजर आता है। हालांकि, वहां जीवन की संभावनाएं तलाश रहे मिशन ऐसी कई जानकारियां जुटा चुके हैं जिनसे इसके इतिहास के बारे में संकेत मिलते हैं। ऐसी ही एक जानकारी NASA के Curiosity रोवर के डेटा से मिली है। एक स्टडी में दावा किया गया है कि मंगल पर लंबे वक्त तक सूखा रहता था और फिर कुछ वक्त पानी रहता था। मंगल की चट्टानों की बनावट से ऐसे संकेत मिले हैं। ChemCam इंस्ट्रुमेंट और टेलिस्कोप की मदद से सेडिमेंटरी चट्टानों के तले की स्टडी की गई है।

रेत के टीले

रोवर फिलहाल गेल क्रेटर (Gale Crater) के अंदर Aeolis Mons नाम के एक पहाड़ पर है। यहां मिले डेटा के आधार पर वैज्ञानिकों ने संभावना जताई है कि कई सौ फीट तक धूल से बनी लाल ग्रह की चट्टान के तले में बनावट तेजी से बदलती है। Mount Sharp के निचले हिस्से में गीली मिट्टी (Clay) है और ऊपर रेत का टीला जो आंधी के साथ जगह बदलता रहता है। रिसर्चर्स ने संभावना जताई है कि सूखे काल के दौरान इन टीलों ने आकार लिया होगा। वहीं, इनके तले नदियों के किनारे-से लगते हैं।

मिलेंगे कई सवालों के जवाब

इससे संकेत मिलते हैं कि यहां कभी गीला मौसम रहा होगा और हो सकता है गेल क्रेटर के अंदर पानी भरा हो। अपने मिशन के दौरान Curiosity को Mount Sharp से डेटा लेना है। यहां मिले बदलावों से पता चल सकेगा कि यहां मौसम कैसे विकसित हुआ। इसके पीछे के कारणों का पता लगाया जाएगा। कुछ दिन पहले Curiosity ने मंगल के बादलों का वीडियो भेजा था। ये नजारे उसके ऊपर लगे कैमरों में कैद हुए थे। आठ नई तस्वीरों में नैविगेशन कैमरे की नजर से पांच मिनट के नजारे देखे गए। ये धरती के बादलों की तरह ही चलते हुए दिखे।

इसीलिए झीलें तलाश रहा Perseverance

-perseverance

NASA का Perseverance रोवर जहां उतरा है वहां भी इसी कारण जीवन के संकेत मिलने की उम्मीद है। वैज्ञानिकों का मानना है कि Jezero कभी पानी से भरा हुआ करता था और यहां किसी प्राचीन नदी का डेल्टा था। 3.5 अरब साल पहले नदियों के पानी से ये झील बनी थी। वैज्ञानिकों ने ऐसे सबूत हासिल किए हैं जिनसे पता चलता है कि ये पानी आसपास के इलाके से मिनरल झील में लेकर आता था। हो सकता है कि इस दौरान वहां सूक्ष्मजीवी रहे हों। अगर ऐसा हुआ होगा तो झील के तल में या तट के सेडिमेंट में इसके निशान मिल सकेंगे।

देखें, मंगल पर ‘जीवन के संकेत’ का पहला वीडियो

देखें, मंगल पर ‘जीवन के संकेत’ का पहला वीडियो



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *