West bengal election : राहुल को बताया टूरिस्ट… मतुआ, नामशूद्र और शरणार्थियों के लिए 100 करोड़ के कोष का ऐलान…पश्चिम बंगाल में क्या बोले अमित शाह

Spread the love


हाइलाइट्स:

  • 17 अप्रैल को पश्चिम बंगाल में ही पांचवे फेज की वोटिंग
  • एक दिन पहले बीजेपी ने की रैलियां, ममता बनर्जी को निशाने पर लिया
  • अमित शाह ने शरणार्थियों, मतुआ और नामशूद्र के लिए किया फंड का ऐलान

कोलकाता
पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के पांचवें चरण वोटिंग 17 अप्रैल को होनी है। उससे पहले बीजेपी यहां लगातार रैलियां कर रही है। शुक्रवार को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह और बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा रैली करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने ममता बनर्जी और कांग्रेस को निशाने पर लिया।

अमित शाह ने कहा कि हमारे देश में एक पर्यटक नेता (राहुल गांधी) हैं, पूरा चुनाव हो गया राहुल बाबा दिखाई नहीं पड़े। अभी एक सभा करके गए और उन्होंने कहा कि बीजेपी का DNA कैसा है। राहुल बाबा मैं हमारे DNA का परिचय करा देता हूं, D फॉर डेवलेपमेंट, N फॉर नेशनलिजम और A फॉर आत्मनिर्भर भारत।

मतुआ और नामशूद्र के लिए 100 करोड़ के कोष का ऐलान
तेहट्टा में पहुंचे अमित शाह ने कहा कि जो 70 साल पहले यहां आए हैं, वह अपने ही देश में शरणार्थी का जीवन जी रहे हैं, उनको भाजपा नागरिकता देने का काम करेगी। उन्होंने ने ऐलान किया कि मतुआ और नामशूद्र समुदाय के लोगों समेत शरणार्थियों के लिए मुख्यमंत्री के नेतृत्व में 100 करोड़ रुपये का एक कोष बनाया जायेगा।

‘2 मई के बाद बांग्ला नए युग में करेगा प्रवेश’
अमित शाह ने कहा कि हम नए वर्ष(बंगाली नववर्ष) में प्रवेश कर चुके हैं और 2 मई को दीदी की विदाई के साथ ही सोनार बांग्ला के नए युग में भी प्रवेश करने वाले हैं। उन्होंने कहा कि दीदी मतुआ, नामशूद्र समुदाय के लोगों को नागरिकता देने की इच्छुक नहीं है क्योंकि उनका वोटबैंक यह नहीं चाहता है, भाजपा इन सभी को नागरिकता देगी। शाह ने कहा कि घुसपैठिए हमारे युवाओं की नौकरियां छीन रहे हैं, तृणमूल कांग्रेस, वाम दल, कांग्रेस घुसपैठियों को रोक नहीं सकते

ममता को बताया दलित विरोधी
वहीं पूर्वी वर्धमान में रैली करने पहुंचे जेपी नड्डा ने कहा कि अभी कुछ दिन पहले ममता जी के एक नेता ने दलितों के लिए ऐसे अपशब्द कहे, जो हम बयान नहीं कर सकते। कहा कि इनको कितना भी दे दो, ये बिक जाते हैं। लेकिन ममता जी ने आजतक इसकी भर्त्सना नहीं की। ममता जी सहित TMC के सभी नेता दलित विरोधी हैं।

…ताकि न हो चौथे चरण जैसी हिंसा
वहीं, पश्चिम बंगाल के पांचवें चरण के मतदान में चौथे चरण जैसी हिंसा न हो, इसके लिए केंद्रीय बलों की तैनाती बढ़ाई जा रही है और 853 कंपनियां तैनात की जा रही हैं। चौथे चरण में 789 कंपनियां तैनात की गई थी। पांचवें चरण में 45 सीटों के लिए 17 अप्रैल शनिवार को मतदान है।

चुनाव आयोग ने बुलाई सर्वदलीय बैठक
उधर पश्चिम बंगाल के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) द्वारा कोरोना पर बुलाई गई सर्वदलीय बैठक के लिए भारतीय जनता पार्टी का प्रतिनिधिमंडल कोलकाता सर्किट हाउस पहुंचा।

बंगाल में अमित शाह



Source link

Previous Article
Next Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *